Shayari

Top 60 Desh Bhakti Shayari in Hindi _ देश भक्ति सुविचार शायरी

Aajadi ke diwane

खुशनसीब है वो जो वतन पर मिट जाते है,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते है,
करता हु उन्हें सलाम ऐ वतन पे मिटने वालो,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बस्ता है।

ऐ मेरे वतन के लोगो तुम खूब लगा लो नारा,
ये अच्छा दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा,
पर मत भूलो सिमा पर वीरो ने है प्राण गवाए,
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आए।

मुझे ना तन चाहिए ना धन चाहिए,
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए,
जब तक जिन्दा रहु इस मातृ भूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिए।

देश के लिए मर मिटना,
कुबूल है हमें,
अखंड भारत के सपने का,
जूनून है हमें।

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बून्द भी लहू की,
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होंगे देंगे।

सूंदर है जग में सबसे नाम
भी सबसे न्यारा है,
वो देश हमारा है वो देश,
हमारा है।

उनके हौसले का मुकाबला ही नहीं है कोई,
जिनकी कुर्बानी का कर्ज हम पर उधार है,
आज हम इसीलिए खुशहाल है क्योकि,
सिमा पे जवान बलिदान को तैयार है।

इस वतन के रखवाले है हम,
शेर ए जिगर वाले है हम,
हमसे न टकराना कभी,
आग है हम सोले है हम।

इश्क तो करता है हर कोई,
महबूब पे मरता है हर कोई,
कभी वतन को महबूब बना के देखो,
तुझ पे मरेगा हर कोई।

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है,
आजद है मगर गुलामी किये जाते है,
सुक्रिया करो उस सेना का,
जिसके वजह से आप आजादी से जीते हो।

कुछ नशा करो देश के लिए,
कुछ नशा करो अपने तिरंगे के लिए,
दुनिया में शोर गूंजेगा,
भारत के सम्मान का।

देश के लिए जान भी क़ुर्बा करूँगा, देश के लिए अरमान भी क़ुर्बा करूँगा, कोई आंख उठाए मेरी भारत माँ पर, उसका फ़ौज तबाह करूँगा। जय जवान जय किसान।

देश के लिए जान भी क़ुर्बा करूँगा,
देश के लिए अरमान भी क़ुर्बा करूँगा,
कोई आंख उठाए मेरी भारत माँ पर,
उसका फ़ौज तबाह करूँगा।
जय जवान जय किसान।

देश भक्ति का ऐसा जुनून छाया है, बादलों में ऐसा घटा छाया है, दिल में हिंदुस्तान दिमाग में ख्वाब छाया है।

देश भक्ति का ऐसा जुनून छाया है,
बादलों में ऐसा घटा छाया है,
दिल में हिंदुस्तान दिमाग में ख्वाब छाया है।

Previous page 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button