Shayari

Top 60 Desh Bhakti Shayari in Hindi _ देश भक्ति सुविचार शायरी

Desh bakti shayari Shahido ke name

इस वतन के रखवाले है हम,
शेर ए जिगर वाले है हम ,
मौत से हम नहीं डरते,
मौत के बाहो में पीला है हम,
जय जवान जय किसान।

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहराएंगे हर जगह तिरंगे को,
क्योकि नशा हिन्दुस्तान का है।

हर मजहब से सीखा है हमने,
देश का नारा लगते रहो,
मत बातो इस देश को,
इस देश को एक रहने दो।

मुझने कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ देश की शान का है,
और गौरव है इस बात का,
मैं हिदुस्तान का हु, और मुझमे हिन्दुस्तान बसा है।

कुछ न कुछ बात है इस देश की,
लोग शरहद में छुप कर आते है,
मर मिटने के लिए जान हथेली पर ले आते है।

शहीद हो गए जो ओढ़ तिरंगा,
भारत माँ की गॉड में,
फिर होंगे ये वीर पैदा,
इस भारत माँ की गोद में।

जब देश में थी दिवाली, वो झेल रहे थे गोली,
जब हम बैठे थे घरो में, वो खेल रहे थे होली,
क्या लोग थे वो अभिमानी, क्या लोग थे वे दीवाने,
कोई शिख कोई जाठ मराठा कोई गोरखा कोई मद्रासी,
वनडे मातरम।

ए मेरे प्यारे वतन,
ए मेरे पिछड़े चमन,
तुझपर दिल कुर्बान,
तुझपर ही जान कुर्बान।

सुन्दर है जग में सबसे, नाम भी सबसे निराला,
वो देश हमारा है वो देश हमारा है,
जहा जाती भाषा से भड़कर देश प्रेम की धरा है,
वो देश हमारा है, वो देश हमारा है।

जिंदगी है कल्पनाओ की जंग,
कुछ तो करो इसके लिए दबंग,
जियो शान से भरो उमंग,
लहराओ सबके दिलो में देश के लिए उमंग।

साइन में जूनून और आँखों में,
देश भक्ति की चमक रखता हु,
दुश्मन की सांसे थम जाए,
आवाज में इतनी धमक रखता हु।

ये दुनिया एक दुल्हन,
ये दुनिया एक दुल्हन,
दुलहन की माथे की बिंदिया,
i love my india.

इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना,
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाए रखना।

लिख रहा हु अंजाम जिसका,
कल आगाज आएगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा,
मैं राहु या न राहु इस जमीं पे जिन्दा,
हमेशा इस देश की रक्षा करूँगा।

ऐ मेरे वतन के लोगो,
तुम खूब लगा लो नारा,
जो शहीद हुए है उनको ,
जरा याद करो कुर्बानी,
पर मत भूलो सिमा पर विरो ने है प्राण गवाए,
कुछ याद उन्हें भी करलो जो लौट के घर न आए,
वन्दे मातरम।

जो अब तक न खौला वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम न आए वो बेकार जवानी है।

जो देश के लिए शहीद हुए है,
उनके लिए मेरा सलाम,
अपने खून को जिस जमीं को सिचा,
उन बहादुरों को मेरा सलाम है।

हमारी पहचान तो सिर्फ ये है की हम भारतीय है,
हमें गुस्सा मत दिलाना ए दुशमन,
हम तोप माहि परमाणु बेम है।

दिलो की नफ़रत को निकालो,
वतन के इन दुश्मनो को मारो,
ये देश है खतरे में ऐ मेरे हमवतन,
भारत माँ के सम्मान को बचा लो।

देश की हिफाजत मरते दम तक करेंगे।
दुश्मन की हर गोली का हम सामना करेंगे,
आजाद है और आजाद ही रहेंगे,
वनदे मातरम।

Previous page 1 2 3Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button