Shayari

Top 60 Desh Bhakti Shayari in Hindi _ देश भक्ति सुविचार शायरी

खून से खेलेंगे होली,
अगर वतन मुश्किल में है,
सर फरोशी की तमन्ना,
अब हमारे दिल में है।

आज मैं आपको पुरे Top 60 Desh Bhakti Shayari in Hindi के बारे में बताऊंगा, ये शायरी देश के प्रति समर्पित है, और इस पोस्ट में हमारे देश के जवानो के लिए भी शायरी मौजूद है इसके बावजूद मैं आपको फोटो वाला शायरी देने वाला हु,

और इससे आप अपने स्टेटस या स्कूल के लिए इसे याद कर सकते है, जिसे मैंने फोटो के माध्यम से और शब्दों के माध्यम से आप सभी के सामने लाया है जिसे आप भी लाभ उठा सकते है। अगर आपको कुछ भी पूछना है तो आप कमेंट में पूछ सकते है।

उसी विश्वाश के लिए मैंने इस पोस्ट में 100 जो टॉप लेवल के देश भक्ति शायरी है उसे मैंने लिखा हुआ है, देश के प्रति लोग बहुत उकशुक होते है, और सभी अपने मोबाइल के देश भक्ति स्टोरी में लगाकर देश के प्रति अपना विश्वाश को प्रकट करे है,

Desh Bhakti Shayari in Hindi

खींच दो अपने खून से जमी पर लकीर,
इस तरफ आने पाए न रवां कोई,
तोर दो अगर कोई हाथ उठने लगे।
छू न पाए सीता का दमन कोई,
राम भी तुम तुंही लक्मण,
साथियो अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो।

देश के लिए मर मिटना कुबूल है मुझे,
अखंड भारत के सपने का जूनून है मुझे ।

देश भक्तो से ही देश की शान है,
देश भक्तो से ही देश का मान है,
हम उस देश के फूल है यारो,
जिस देश का नाम हिन्दुस्तान है।

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बून्द भी लहू की,
तब तक भारत माता का आँचल नीलम नहीं होने देंगे।

गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है,
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है,
दिल से तुमको नमन है करते,
ये आजाद वतन जो तुमने दिलाया है।

अधिकार मिलते नहीं, लिए जाते है,
आजाद है मगर गुलामी किये जाते है,
वंदन करो उन सेनानियों को,
जो मौत के आँचल में जिए जाते है।

मैं बॉर्डर पर देश की हिफाजत करूँगा,
ये देश मेरी जान है मेरा अभिमान है,
इसकी रक्षा के लिए,
मैं क्या मेरा हर जन्म कुर्बान है।

मेरे वतन का राष्ट्रगान बंगा से है,
हमारे वतन की शान गंगा से है,
जो वीर मर मिठे है देश की मिटटी पर,
उन शहीदों का अभिनन्दन तिरंगा से है।

गरज उठे गगन सारा,
समुन्दर छोरे अपना किनारा,
हिल जाए जहाँ सारा,
जब गूंजे इंक़लाब का नारा।

दिल हमारा एक है एक है हमारी जान,
हिदुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे, हो जाएंगे कुर्बान,
इसीलिए हम कहते है मेरा भारत महान,
जय हिन्द जय भारत,

दिलो से नफरतो को निकालो,
देश के इन गद्दारो को मारो,
ये देश है खतरे में ए मेरे दोस्त,
हिन्दुस्तान के सम्मान को बचा लो।

हमें मालुम है, की इस रस्ते पर कदम कदम पर मौत है,
फिर भी इस वतन की खिदमत का जूनून है,
यह तुम्हारे इर्द गिर्द इसलिए इतना सुकून है,
क्योकि इस हवा में हम जवानो का खून है।
वन्दे मातरम।

देश के रखवाले है हम,
शेर ए जिगर वाले है हम,
शरहद से हमे क्यों डर लगेगा,
मौत के बहो में पले है हम।

भारत माता की जय।

लिख रहा हु मैं अंजाम जिसका,
कल आगाज आएगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा,
मैं रहु या न रहु पर ये वडा है,
तुमसे मेरा की मेरे बाद वतन पर,
मरने वालो का सैलाब आएगा।

भारत माता पुकारे तुम्हे आना ही होगा,
कर्ज अपने देश का चुकाना ही होगा,
दे करके क़ुरबानी अपनी जान की,
तुम्हे मरना भी होगा और मारना भी होगा,

तीन रंग का नहीं वक्त्र, ये ध्वज देश की शान है,
हर भारतीय के दिलो का स्वभिमान है,
यही है गंगा, यही है जमुना, यही हिन्द की जान है,
तीन रंगो में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान है।

मेरी मुल्क की हिफाजत ही मेरा फर्ज है,
मेरी मुल्क ही मेरा जान है,
इस पर कुर्बान है मेरा सब कुछ,
इससे बढ़कर नहीं ये मेरी जान है।

वतन की मोहब्बत दिल में दबाए बैठे है,
मरेंगे वतन के लिए शर्त लगे बैठे है,
जान दुश्मनो की लेंगे सहादत लगे बैठे है।

ख़ुशी खुशी गले लगाया था,
सहीदो ने फांसी का फंदा,
यु ही नहीं मिली थी आजादी,
जाने कितनो गवाया था जान अपना।

जब आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो,
जब आँख बंद हो तो यादे हिन्दुस्तान की हो,
हम मर भी जाए तो कोई गम नहीं,
मरते वक्त जमीन हिन्दुस्तान का हो
वन्दे मातरम।

1 2 3Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button