Full Form

BPO Full Form In Hindi

जैसा की मैंने हैडिंग दिया है BPO Full Form In Hindi तो इसका मतलब ये नहीं की मैं सिर्फ इसके फूल फॉर्म के बारे में ही बताऊंगा इससे सम्बंधित जो भी चीजे होंगी वो सभी मैं आपलोगो के सामने रखने का प्रयाश करूँगा और BPO को साधारण भाषा में आप आप ये कह सकते है की BPO एक तरह का प्रोसेस है जिसे आप खुद नहीं कर सकते है इसके लिए आपको एक एक्सपर्ट को रखकर इससे सम्बंधित कामो को किया जाता है

BPO से सम्बंधित एक बात मैं आपको बता देना चाहता हु की अगर आपका कोई नेटवर्किंग वर्क में अगर आपको कोई भी परेशानी होगी या कोई समस्या होगी तो आप इसके कस्टमर केयर के पास कॉल लगाकर आप बात कर सकते हो

जिससे आपकी समस्याए पर वो कम्पनी कार्य करेगी इसी तरह के कुछ काम बपो के अन्तर्गत होती है आगे मैं बताउगा की इसमें और कौन कौन से कार्य आते है फिलहाल हम बात करेंगे BPO Full Form In Hindi के बारे में, मैं आपको सिर्फ हिंदी ही नहीं बल्कि इंग्लिश दोनों में बताने वाला हु तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े क्योकि सिर्फ इसका फुल फॉर्म जानना ही जरुरी नहीं है इसका थोड़ा डिटेल भी जानना जरुरी है और आगे मैं ये भी बताऊंगा की BPO KYA है और इसका काम क्या है और BPO Full Form In Hindi भी बताऊंगा।

BPO Full Form In Hindi

BPO INFORMATION

तो BPO का Full Form Business process outsourcing होता है आपको मैं बता दू इसके फुल फॉर्म है इसका मलतब यह है की जब एक बिजनेसमैन वो अपनी कम्पनी का काम करने में सक्क्षम नहीं होता है यानि काम का प्रेसर ज्यादा होता है और उस काम को वो नहीं कर पता है तो किसी ये बिजनेसमैन किसी और कम्पनी को काम देकर वो अपने काम को करा लेता है और उनका जो प्राइस होता है वो भी ज्यादा नहीं होता है

इससे दोनों कम्पनी को नुकसान भी नहीं होता है और BPO का फुल फॉर्म हिंदी में बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग भी कहते है BPO का इस्तेमाल छोटे बिजिनेस वाले भी करते है BPO जो की वो बैक ऑफिस यानि की साइलेंट रूप से किसी भी कार्य को करता है ।

BPO Full Form In Hindi

BPO क्या है?

WHAT IS BPO

जैसा की मैंने बताया है यह एक तरह का आउटसोर्सिंग वर्क है BPO सूचना प्रौद्योगिकी सक्षम सेवाएं के नाम से भी जानते है BPO को अगर ठीक से समझा जाए तो यह एक तरह का प्रोसेस है जिसे एक बिजनेस मैन किसी दूसरे बिजिनेस मैन को देता है और दूसरा तीसरे बिजनेस मैन को काम करने के लिए देता है इसके बहुत काम होते है जैसे की ऑफसोर, ओनसोर और नियरसोर ये सबसे महत्वपूर्ण कार्य है इसमें काम करना हो तो आपको थोड़ी बहुत कंप्यूटर की भी नॉलेज होनी चाहिए

और इसे वातावरण में घुल मिल जाने की क्षमता भी होनी चाहिए BPO में काम करने वाले हमेशा मार्किट के अपडेट लेते रहते है जिससे की वो किस पर काम करे उससे अंदाजा लग ही जाता है और बात करे (BPO Full Form In Hindi) इसकी FRONT OFFICE की तो इसकी फ्रंट ऑफिस में कस्टमर सर्विस होता है यानि की कॉल सेण्टर जैसे ऑफिस शामिल होता है इसके साथ साथ ये एकाउंटिंग का और मानव संसाधन का भी सेवा प्रदान करता है जिससे इन कोम्पन्यो को फायदा भी होता है ।

BPO का इतिहास?

अगर बात करे इसकी हिस्ट्री की तो लगभग 1962 में रॉस पेरोट ने इलेक्ट्रॉनिक डाटा सिस्टम नाम से सबसे पहले शुरुआत की जिससे की इसको बाद में आगे की ओर बढ़ाया गया ।

साधारण भाषा में कहे तो इसके दो वर्ग(CATEGORY) है :

  • फ्रंट ऑफिस कस्टमर सर्विस
  • बैक ऑफिस कस्टमर सर्विस

इन दोनों के बारे में मैंने डिटेल्स से बता दिया है।

BPO Full Form In Hindi

BPO FULL FORM

कम्पनिया इसका उपयोग क्यों करती है :-

BPO का उपयोग कम्पनिया करती है मेनली ये बिजनेस मैन के लिए ही इसको लाया गया है जिससे की कंपनियों से अगर काम का प्रेशर ज्यादा होगा हो आराम से इसकी(BPO) सहायता से वो भी कम खर्च में करवा सकते है BPO का इस्तेमाल इसीलिए ज्यादा होने लगा है क्योकि ये बहुत बढ़िया सर्विस देता है।

BPO Full Form In Hindi

अंतिम शब्द

हेलो दोस्तों मैं राजा शर्मा जो की मैंने ग्रेजुएशन किया है आपका स्वागत करता हु, और आशा करता हु की इससे ज्यादा जानकारी आपको नहीं चाहिए होगा अगर आपको और जानकारी चाहिए तो कमेंट सेशन में कमेंट करके बताए और साथ में मुझे सपोर्ट कीजिए और आर्टिकल को शेयर कीजिए जिससे की और भी लोगो को इसकी जानकारी मिल सके। और भी किसी के बारे में जानना हो तो यहां CLICK करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button