Tech

Android Kya Hai? – और Android का इतिहास। Android Meaning In Hindi, what is Andriod In Hindi?

क्या आप सभी को मालूम है, की Android Kya Hai? अगर मालूम भी होगी तो सिर्फ आप सभी को Android के बारे में एक ही बात मालूम होगा की यह एक सॉफ्टवेयर है जिसके  सहायता से आप अपने फ़ोन को चला सकते है, लेकिन ये सोचना आपका गलत होगा क्योकि ये कोई सॉफ्टवेयर भी नहीं है और नहीं कोई app है यह एक तरह का Operating System है, जो आपके सिस्टम जैसे मोबाइल को ऑपरेट करने का कार्य करता है।

तथा इसे गूगल (Google) के द्वारा ही बनाया गया था, जो एक टच स्क्रीन जैसे मोबाइल, टैबलेट और सेल फ़ोन जैसे डिवाइस के लिए बनाया गया था, यानि स्क्रीन टच device को विकशित करने के लिए इसे बनाया गया था, जो आज कल के हर नार्मल फ़ोन में अपने अच्छे फीचर्स के वजह से Android अपना पूरा कब्ज़ा किया हुआ है,

यह ऑपरेटिंग सिस्टम के वजह से ही किसी मोबाइल में अपडेट भेजकर उसमे नया नया फीचर जोरता रहता है, अब तो यह इतना विकशित हो चूका है, जिससे आगे निकलने में कोई और कंपनी को बहुत समय लग सकता है, हालाँकि देखा जाए तो यह अपने से कुछ बेस्ट देने की ही कोशिश में लगा रहता है,

क्योकि आज के नार्मल फ़ोन के लिए भी ये सबसे लेटेस्ट Android Version 11 सभी फ़ोन में अपडेट दे रहा है, और ये फीचर बहुत ही जयादा यूनिक बनती है अपने फीचर के कारण, ये तो मैंने इसके कुछ जानकारी को बताया है,

अब मैं आप सभी को Android Kya Hai? Android का इतिहास क्या है, Android Meaning In Hindi, what is Andriod In Hindi? इन सभी के बारे में विस्तार से बताने वाला हु, तो आप इसे आंखरी तक जरूर पढ़े।

आपको मालूम भी हो की हमारे देश में सबसे ज्यादा लोग Android को ही उपयोग करते है और करना चाहते है, क्योकि Andriod ने बहुत ही कम समय में अपना विस्तार कर लिया है। और पूरी दुनिया अपना विस्तार कर लिया है।

और आप जानते ही है की कोई भी Andriod फ़ोन IOS के फ़ोन से कम में ही मिलता है, तो इसके वजह से भी लोग ज्यादा Android फ़ोन ही लेना पसंद करते है, और ये सस्ता भी होता है, और अच्छा भी होता है, जिससे लोगो का काम अच्छे से हो सके। Andriod ने अपने अच्छे फीचर्स के वजह के कारण भी सभी इसे सब पसंद करते है।

Android Kya Hai?

जैसा की मैंने बताया है, यह एक तरह का Operating System है, जो आपके मोबाइल जैसे डिवाइस को ऑपरेट करता है, और यह मुख्य रूप से Linux kernal पर आधारित रहता है, ये भी एक तरह का Operating System होता है, जो अक्शर camputer server और डेस्कटॉप में इसका उपयोग किया जाता है।

Andriod को इस तरह से बनाया गया है, जिसके वजह से आप को बहुत सारे फंक्शन देखने को मिल सकते है, मेरे कहने का अर्थ है की इसको इस तरह से डिजाइन किया गया है, जिसके मदद से ही हम किसी को फ़ोन से बात कर सकते है,

उससे कोई भी app डालकर उसका इस्तेमाल कर सकते है, इससे किसी से taxt की सहायता से भी बात कर सकते है और ईमेल का भी इस्तेमाल कर सकते है, ऐसेही बहुत सारी फंक्शन इसमें मौजूद है, और आप सेक्रेटरी लॉक भी इस्तेमाल कर सकते है

Android Meaning In Hindi यानि Andriod का मतलब मोबाइल फ़ोन, टेबलेट जैसी जो ऑपरेटिंग सिस्टम के वजह से अपना काम करता है, इसकी सुविधा यानि Andriod को उसके सुविधा के कारन ही उसे विक्षित किया गया था, इसके बहुत से version अभी भी मौजूद है,

उसे मैं आगे बताने वाला हु, लेकिन उन सभी में अब तक सबसे latest Andriod Version12 आने वाला है, और आ भी गया होगा कुछ फ़ोन में, लेकिन सभी अच्छे मोबाइल में Andriod 11 अपडेट कर दिया गया है, और थोड़े दिन में 12 भी सभी फ़ोन में आ सकता है।

जैसे बहुत से Andriod Version निकल चुके है, Android 6.0 Marshmallow और Android 7.1 Nougat था, Android 5.0/5.1 Lollipop इसी के जैसे बहुत सारी version निकल कर आ रहे है। और अभी के Android Version के बारे में मैंने आपको पहले ही बता दिया है।

आगे मैं आपको इसके सभी version के नाम और उसकी थोड़ी सी जानकारी आपको बताऊंगा, और इसके बाद आपको इसके इतिहास के बारे में भी बताऊंगा।

Android Version के नाम के लिस्ट

Android Kya Hai? - और Android का इतिहास। Android Meaning In Hindi, what is Andriod In Hindi?
  • Android Beta(2007 ): इसे 2007 में लॉन्च किया गया था और यह सबसे पहले लंच किया गया Android Version था।
  • Android 1.0: इसके अगले साल में ही 2008 में (Android 1.5 Cupcake) इसे लॉन्च किया गया तथा यह Android Version उस समय का सबसे ज्यादा पॉपुलर Operating System हो गया था। इसके फीचर्स के बारे में आपको बताए तो इससे यूजर्स को अपने मोबाइल में एप्लीकेशन को डाउनलोड करने का अनुमती देता था ओर सिर्फ यही नहीं बल्कि मोबाइल में कैमरा, गूगल कैलेंडर, जीमेल, वेब ब्राउज़र, गूगल मैप, आदि को अपने अंदर उपलब्ध कराया था.
  • Android 1.1(2009) :इसे Petit Four के नाम से भी जाना जाता था। इसमें मैसेज के साथ ही अटैचमेंट को Save करने की भी सुविधा उपलब्ध थी जिसके वजह से ये भी लोगो के बिच अपना जलवा दिखने लगा।
  • Android 1.5 Cupcake(2009) : इस वर्जन से लोग बहुत ही जयादा खुश थे क्योकि मोबाइल में वीडियो रिकॉर्डिंग की सुविधा उपलब्ध कराइ गई थी और यही नहीं इसके के साथ इंटरनेट की मदद से कॉपी पेस्ट करने का भी फीचर भी उपलब्ध कराया गया था।
  • Android 1.6 Donut(2009) : इससे लोगो को Voice के माध्यम से सर्च करने की सुविधा और एप्लीकेशन जल्दी से ओपन होने की सुविधा मिली।
  • Android 2.1 Eclair(2009): इस version के माध्यम से जब मोबाइल फ़ोन के कैमरे से फोटो खींचते थे तो फ्लैश की सुविधा मिलने लगी और इसी के साथ कैमरा में , Zoom In/Out, colour effect आदि की सुविधा प्रदान किया गया।
  • Android 2.2 Froyo (2010): इसमें ज्यादा नहीं लेकिन WiFi और Hotspot, Push Notification जैसे फीचर को ऐड किया गया था।
  • Android 2.3 Gingerbread(2010):इस Version में faster text input in the virtual keyboard, extra-large screen sizes, support for Near Field Communication, enhanced copy-paste functionality, New Download Manager जैसे बहुत सी सुविधाएँ मौजूद थी, इसके साथ ही Gingerbread में बहुत सारी चीज़ें support करना का क्षमता था, जैसे की improved power management, multiple cameras on the device इत्यादि थी
  • Android 3.2 Honeycomb(2011): इस में नया virtual तथा ‘holographic’ user interface भी था जिसके साथ ही system added bar, redesigned keyboard और action bar भी ज़ुरा था. इसी के साथ आप allows multiple browser tabs, multitasking, support video for chat using Google Talk a provides quick access to the camera, जैसे कई सुविधाए उपलब्ध कराइ गई थी.
  • Android 4.0 Ice Cream Sandwich(2012):
  • Android 4.1 Jelly Bean(2012):इस version के द्वारा लोग कैसे User interface की functionality and performance को बढा सकते है, और इस version में बहुत से features मौजूद थे, जैसे ability to turn off notifications on apps, bi-directional text, offline voice detection, इसके साथ बहुत सारे shortcuts, Google Wallet, multichannel audio आदि यही सब फीचर थे.
  • Android 4.2 Jelly Bean(2012):इस version में भी बहुत सारी फीचर को जोड़ा गया था जैसे की नया clock widgets, multiple user profiles, redesigned clock app और Daydream Screen Savers, Photospheres आदि थे
  • Android 4.3 Jelly Bean(2012):इस version में भी बहुत सारी फीचर को जोड़ा गया था जैसे की नया clock widgets, multiple user profiles, redesigned clock app और Daydream Screen Savers, Photospheres आदि थे.
  • Android 4.4 KitKat(2013):गूगल ने पहली बार किसी और कंपनी से जुड़कर और उसके साथ मिलकर काम किया यानि गूगल ने किसी और ब्रांड Nestle के साथ मिलकर और Nexus 5 जो एक Smartphone था उसी के साथ लॉन्च किया था। इसमें मॉनिटरिंग, Wireless Printing, Sensor Optimize, जैसे बहुत सारे फीचर मौजूद थे, और ये मॉडर्न ज़माने के लिए भी बहुत अच्छा था इसी के साथ और अच्छे फीचर आने लगे, दूसरे version के साथ यही ये Andriod का मॉडर्न सफर सुरु हो हग्या था.
  • Android 5.0 Lollipop(2014) : अब इस version की सहायता से बैटरी लाइफ में सुधार और Home Screen पर Notification की भी सुविधा भी मिलनी शुरू हो गई थी
  • Android 5.1 Lollipop(2015) : अब इस version की सहायता से बैटरी लाइफ में सुधार और Home Screen पर Notification की भी सुविधा भी मिलनी शुरू हो गई थी
  • Android 6.0 Marshmallow(2015) : अब सबसे ज्यादा लोगो को अपने ओर आकर्षित करने वाला फीचर भी आ गया था जिसका नाम है Fingerprint, एप्लीकेशन को Search Bar में Search की सुविधा, Full Data Backup इत्यादि थी
  • Android 7.0 Nougat(2016) : इसमें भी बहुत सी वृद्धि हुई जिसमे से कुछ का नाम Night Light, App Shortcut, की सुविधा थी.
  • Android 7.1 Nougat(2016) : इस Version में थोड़े फीचर और ऐड किया गया था
  • Android 8.0 Oreo(2017) : इस वर्शन में और जाएगा Secure और Safe, Smart Text Selection की सुविधा मौजूद थी.
  • Android 8.1 Oreo(2017) : इस Version में थोड़े फीचर और ऐड किया गया था
  • Android 9.0 Pie(2018) : इसमें Auto-Brightness, App Timmer जैसी फीचर को add किया गया था
  • Android 10(2019) : इसके बाद इस version में Faster Sharing, Photo के लिए Depth Focus इत्यादि किया गया था.
  • Android 11 (2020) : यह Version सबसे लेटेस्ट Version है, और इसमें बहुत ही ज्यादा high सेक्रेटरी का सुविधा प्रदान किया गया है, और इसके साथ ही कुछ फीचर को ऐड किया गया है, जैसे Bick mood पर do not distrub का फंग्शन इत्यादि दिया गया है.

Android का इतिहास।

Andriod की इसिहास के बारे में बात करे तो इसे USA यानि संयुक्त राज्य अमेरिका देश के दो लड़को ने मिल कर बनाया था, जिनका नाम Rich Miner और Andy Rubin के द्वारा बनाया गया था, लेकिन इसे 2005 में गूगल ने खरीद लिया गया, और Andy को Andriod Devlopment का मुख्य कर्मचारी बना दिया गया, लेकिन 2013 में Andy ने इसे छोर दिया,

इसके बाद हमारे देश यानि भारत के एक जेंटल मैन सूंदर पिचाई को उनकी जगह पर मुख्य कर्मचारी बना दिया गया, और उसी के साथ chrome os के chief भी बने तथा उन्होंने अपने कार्य और अच्छे दिमाग के वजह से अपने अनुभव से उन्होंने गूगल में अपना अच्छा प्रदर्शन दिया।

हालाँकि Andriod को खरीदने का उदेश्य था की यह एक नई अवधारणा थी, और इसकी मदद से सबसे शक्तिशाली Opreting System को तैयार किया जा सके,

और इसी के साथ Google ने सबसे पहले खुद से सावजनिक Andriod Version बीटा 1.0 बनाया जो 5 नवंबर 2007 को लंच किया जो इस दुनिया को कुछ नया दे सके और आज तक Andriod ऐसेही अपना मुकाम हासिल कर रहा है अपने नए फीचर के साथ।

Conclusion (निष्कर्ष)

तो दोस्तों ये थी Andriod से सम्बंधित पूरी जानकारी जिसे पढ़ने के बाद आपको समझने में कोई परेशानी नहीं हुई होगी, और उम्मीद है की आपको Android Kya Hai? – और Android का इतिहास। आर्टिकल को पढ़ने में कोई समस्या नहीं हुई होगी,

आज के दौर में Andriod हम सभी के जीवन का पार्ट बन गया है, क्योक अक्शर सभी लोग Andriod मोबाइल का ही उपयोग करते है और इसका इस्तेमाल कर भी रहे है, आज के इस युग में जब से लॉक डाउन हुआ है तभी से सभ ऑनलाइन के तरफ फोकस कर रहे है,

और मोबाइल से सभी ऑनलाइन क्लास कर रहे है, इसी से मालूम होता है की Andriod फोन अब सभी उपयोग करने लगे है, यहाँ तक बच्चे भी ऑनलाइन ही क्लास कर रहे है। और Andriod फ़ोन कम पैसे का होता है, इसी वजह से इसको ज्यादा लोग खरीदकर उपयोग करते है।

निष्कर्षतः आपको Android Kya Hai? – और Android का इतिहास। पोस्ट को पढ़ने में अच्छा लगा हो तो कमेंट में जरूर बताये, और अपने दोस्तों के साथ भी इस पोस्ट को जरूर शेयर करे, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button